एम्ब्लम
Shri Dinesh Chander Bajajश्री एस सामंता

सदस्‍य

श्री एस. सामंता ने दिनांक 17 नवम्बर, 2016 को भारतीय विमानपत्तन आर्थिक विनियामक प्राधिकरण (ऐरा) में सदस्‍य का पदभार ग्रहण किया है। उन्‍हें कोलकाता व‍िश्‍व व‍िद्यालय से वाणिज्‍य में डिग्री प्राप्‍त है और वह भारतीय चार्टर्ड एंकाउंटेंट संस्‍थान के सदस्‍य है।

श्री एस. सामंता भारतीय व‍िमानपत्‍तन आर्थिक व‍िनियामक प्राधिकरण (ऐरा) में शामिल होने से पहले भारतीय व‍िमानपत्‍तन प्राधिकरण में कार्यपालक न‍िदेशक (जेवीसी/टैरिफ) के रूप में काम कर रहे थे। उन्‍होंने 1985 में भारतीय व‍िमानपत्‍तन प्राध्‍ािकरण में कार्यग्रहण क‍िया था और भारतीय व‍िमानपत्‍तन प्राधिकरण के अपने कार्यकाल के दौरान व‍ित्‍त और वाणिज्‍यक व‍िभागों में कई ज‍िम्‍मेदार पदों पर रहे। वह भारतीय व‍िमानपत्‍तन प्राधिकरण में टैरिफ ड‍िविजन और संयुक्‍त उद्यम मॉनिटरिंग सेल के प्रभारी भी थे।

श्री सामंता ने 1985 में भारतीय व‍िमानपत्‍तन प्राधिकरण में अपने कर‍ियर की  शुरूआत की और उन्‍हें व‍िमानन क्षेत्र में लगभग 32 वर्ष का अनुभव है। उनके पास हवाई अड्डा क्षेत्र में व‍ित्‍तीय प्रबंधन, हवाई  अड्डों के टैरिफ न‍िर्धारण और हवाई अड्डा के क्षेत्र में पी.पी.पी. परियोजना के अनुवीक्षण (मॉनिटरिंंग) के बारे में समृद्ध अनुभव और जानकारी है।

 

Shri Dinesh Chander Bajajश्री. सुधीर रहेजा

सदस्‍य

श्री. सुधीर रहेजा, सिविल इंजीनियरिंग स्नातक, दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, दिल्ली विश्वविद्यालय ने दिनांक 02 जुलाई, 2018 को ऐरा के सदस्य के रूप में पदभार ग्रहण किया। इन्होंने आईआईटी कानपुर द्वारा संचालित ‘‘प्रबलित कंक्रीट बिल्डिंग के भूकंपीय डिजाईन’’ और इंटरनेशनल एविएशन मैनेजमेंट ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट (आईएएमटीआई) मॉन्ट्रियल, कनाडा से ‘‘एयरपोर्ट प्रबंधन’’ में व्यवासायिक पाठ्यक्रम सफलतापूर्वक पूरा किया। ये एसोसिएशन आफ सर्टिफाईड एगजामिनर्स,टेक्साज़, यूएसए के प्रत्यायन (accreditation) के अधीन प्रमाणित ‘‘फ्रॉड एगजामिनर’’ भी हैं।

श्री. रहेजा को समृद्ध परियोजना कार्यान्वयन अनुभव है, इन्होंने निर्माण उद्योग में कई पुरस्कार अर्जित किए हैं। उन्हें एशियाड (एएसआईएडी)-82 इंडोर स्टेडियम, दिल्ली के समय पर पूरा होने के लिए 1982 में सर्टिफिकेट आफ मेरिट प्रदान किया गया और मारूति उद्योग लिमिटेड, गुड़गांव के लिए उत्कृष्ता और समय पर पूरा करने के लिए प्रशंसा प्रमाण पत्र दिया गया। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) में उन्होंने वर्ष 1988 से अपने 30 साल के लंबे विशिष्ट करियर को एक कार्यकारी अभियंता (सिविल) के रूप में शुरू किया; इंजीनियरिंग, सर्तकता और परियोजना मानीटर और गुणवत्ता आश्वासन जैसे विभिन्न विभागों में अपनी सेवाएं प्रदान की। ये सदस्य (योजना) के रूप में वर्ष 2010 से जून, 2018 में उनकी अधिवर्षिता तक एएआई बोर्ड के पूर्णकालिक सदस्य रहे। ये एएआई में सभी हवाई अड्डों द्वारा अंगीकृत ‘‘वार्षिक अनुरक्षण टर्म संविदा’’ और ‘‘पेंवमेंट मेजेमेंट सिस्टम’’ के दस्तावेजों को प्रतिपादित करने में प्रेरक स्त्रोत रहे। ये अपने कार्यकाल में सर्तकता विभाग में महाप्रबंधक (सर्तकता) के रूप में सार्वजनिक खरीद से संबंधित विभिन्न गतिविधियों में पारदर्शिता लाए और उच्च मूल्य खरीद संविदाओं में ‘‘इंटीग्रिटी पैक्ट ’’के विकास और कार्यान्वयन में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई। सदस्य (योजना) के रूप में इनके कार्यकाल के दौरान, एएआई हवाई अड्डों पर टर्मिनल और वायुमार्ग दोनो में हवाई अड्डे की आधारभूत सुविधाओं के मामले में दुनिया के सर्वोत्तम हवाई अड्डों के साथ प्रतिर्स्‍पधा करते हुए अत्याधुनिक हवाई अड्डों के रूप में बड़े पैमाने पर परिवर्तन किए गए। इन्हें ‘इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर विकास में उत्कृष्ट योगदान’ के लिए ‘द इकोनॉमिक टाईम्स’ (इन्फ्रा फोकस) द्वारा ‘‘मान्यता प्रमाणपत्र’’ (सर्टिफिकेट आफ रेकोगनिशन) प्रदान किया गया था।

श्री. रहेजा ने दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डीआईएएल), मुम्बंई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (एमआईएएल) और केम्पेगोड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे, बंगलुरू (बीआईएएल) के बोर्ड के सदस्य के रूप में भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण का प्रतिनिधित्व किया है; और हरियाणा और पंजाब राज्य सरकारों और एएआई की संयुक्त उद्यम कंपनी चंड़ीगढ़ अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा लिमिटेड (सीएचआईएल) के अध्यक्ष भी रहे हैं।

 

 

 

Page Last updated on : 20-08-2019